Ad Code

Pregnancy Mein Kya Nahi Khana Chahiye Pregnancy Tips In Hindi

Pregnancy Mein Kya Nahi Khana Chahiye

Pregnancy Mein Kya Nahi Khana Chahiye Pregnancy Tips In Hindi
Pregnancy Mein Kya Nahi Khana Chahiye Pregnancy Tips In Hindi पिछली पोस्ट में हमने जाना था की Pregnancy Me Kya Khaye Pregnancy Diet Chart जिसमें हमने आपको बताया था की एक Pregnant Lady को किन खाद्य पदार्थो का सेवन करना चाहिए जो माँ और होने वाले शिशु दोनों के लिए लाभदायक हो। 

इसी के साथ सभी गर्भवती महिला को इस बात का भी विशेष ध्यान देना चाहिए की Pregnancy Period में क्या नहीं खाना चाहिए। क्योंकि कई ऐसे खाद्य और पेय पदार्थ हैं जिसके सेवन से गर्भावस्था में माँ और होने वाले शिशु दोनों पर विपरीत प्रभाव पड़ते हैं। 

जो होने वाले बच्चे में किसी प्रकार की बीमारी, विकलांगता या कभी - कभी गर्भपात होने का भी कारण बनता हैं। इसलिए सभी गर्भवती महिला को Pregnancy Stages में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं इसका उचित ध्यान रखना अति आवश्यक हैं। 

तो चलिए जानते Pregnancy Mein Kya Nahi Khana Chahiye, Avoid Foods During Pregnancy In Hindi Pregnancy Tips In Hindi. 

प्रेगनेंसी में क्या नहीं खाये 

1.पपीता (Papaya)

गर्भावस्था में जिस फ़ूड से सबसे ज्यादा खतरा होता है वह पपीता हैं क्योंकि कई बार यह पपीता ही गर्भपात का कारण बनता हैं। पपीता में काफी मात्रा में लेटेक्स और माईरीड एंजाइम पाए जाते है जो गर्भावस्था के दौरान गर्भाशय में संकुचन पैदा करता हैं।  

जो भ्रूण के लिए बहुत घातक होता हैं जिससे गर्भपात होने अति संभावना होती हैं साथ ही कच्चे पपीते के दूध जिसे पपेन कहते यह भ्रूण के विकास को भी रोक देता हैं। इसलिए गर्भवती महिला को Pregnancy Period में पपीता का सेवन भूल कर भी नहीं करना चाहिए।

2. अंगूर (Grapes)

स्वाद में मीठा और रसीला यह फल वैसे तो एक नार्मल व्यक्ति के स्वास्थ के लिए अच्छा होता हैं पर गर्भावस्था में महिला को अंगूर को खाने से बचना चाहिए। क्योंकि अंगूर का तासीर गर्म होता हैं जो पेट में पल रहे भ्रूण के लिए हानिकारक होते हैं। 

अगर कोई गर्भवती महिला इसका सेवन करती है तो इससे असमय प्रसव होने का खतरा बढ़ जाता हैं इसलिए गर्भवती महिला को अंगूर का सेवन नहीं करना चाहिए।

3. कच्चा अधपका अंडा और मीट 

Pregnant Lady  को अपने भोजन में अंडा और मीट सेवन करने से पहले इस बात का विशेष ध्यान देना चाहिए की अंडा और मीट कच्चा या अधपका बिल्कुल भी नहीं होना चाहिए।

क्योंकि कच्चा अधपका अंडा और मीट भ्रूण के लिए सुरक्षित नहीं होता हैं साथ ही यह उल्टी और फ़ूड पॉइज़निंग का कारण भी बनता हैं। अधपके मीट में लिस्टेरिया नामक जीवाणु और टॉक्सोप्लाज़्मा नामक परजीवी पाए जाते हैं जो भ्रूण के हानिकारक होते हैं। 

जिससे कई बार गर्भपात जैसे समस्या भी देखने को मिलती हैं इसलिए सभी महिला को गर्भावस्था के दौरान कच्चा अधपका अंडा और मीट नहीं खाना चाहिए जब भी अंडा और मीट खाना हो तो उसे अच्छी तरह पका कर ही खाएं। 

4. सहजन (Drumstick Tree)

अपने स्वाद और कई सारे पोषक तत्त्व से भरपूर होने की वजह से यह हरे रंग का सहजन कई लोगो की पसंद होता हैं जिसमें आयरन, पोटेसियम, विटामिन भी पाए जाते हैं। पर साथ ही इस सहजन में अल्फ़ा सिटोस्टेरॉल जैसे तत्व भी पाए जाते हैं। 

जो गर्भावस्था के दौरान शिशु के लिए हानिकारक होता हैं जिसके कारण कई समस्या भी देखने को मिलता हैं इसलिए Pregnancy Period में सहजन का सेवन न करें।

5. शराब व धूम्रपान का सेवन (Alcohol & Smoking)

यह तो हम सभी जानते हैं की शराब व धूम्रपान का सेवन स्वास्थ के लिए हानिकारक होता हैं। पर गर्भावस्था में Pregnant Lady द्वारा शराब व धूम्रपान का सेवन करना और भी घातक हो जाता हैं, जिससे गर्भ में पल रहे शिशु पर बहुत ज्यादा बुरा प्रभाव पड़ता है। 

शराब व धूम्रपान शिशु के बौद्धिक और शारीरिक विकास में बाधा डालता हैं इसके कारण ही कई बार जन्म लेने वाले बच्चे पर किसी प्रकार की विकलांगता या गंभीर बीमारी होने की भी प्रबल संभावना होता हैं।  

कई बार शराब, धूम्रपान या किसी अन्य तरह के नशीले पदार्थ के सेवन से गर्भपात होने का खतरा भी बहुत बढ़ जाता हैं। इसलिए गर्भावस्था में भूल कर भी शराब, धूम्रपान या किसी अन्य तरह के नशीले पदार्थ का सेवन बिल्कुल भी न करें। 

Also Read :

6. अनानास (Pineapple)

अनानास सबसे स्वादिष्ट फलो में गिना जाता हैं जिसका जूस हर उम्र के लोगो को खूब पसंद आता हैं। इस अनानास में कई सारे गुणकारी पोषक तत्त्व भी पाए जाते हैं, पर प्रायः यह गर्भवती महिलाओं के लिए नुकसान दायक होता हैं।

क्योंकि अनानास में ब्रोमलीन भी पाया जाता हैं जो भ्रूण के लिए हानिकारक होता है। जिसके सेवन से पेट में संकुचन पैदा होता हैं जिससे कई बार Miscarriage होने की संभावना भी होती हैं।

7. तुलसी के पत्ते (Basil Leaves)

तुलसी के पत्ते यूँ तो सामान्य दिनों में सभी के लिए लाभकारी होते हैं लेकिन गर्भावस्था में तुलसी के पत्ते का सेवन करने से भ्रूण पर हानिकारक प्रभाव पड़ता हैं। 

क्योंकि तुलसी के पत्ते पर एस्ट्रोगोल नामक तत्त्व पाए जाते हैं जो कई बार गर्भपात होने की संभावना को बड़ा देते हैं इसलिए गर्भवती महिला को तुलसी के पत्ते का सेवन नहीं करना चाहिए।

8. डिब्बाबंद या रेडीमेट खाद्य पदार्थ 

सामान्य दिनों में डिब्बाबंद खाद्य पदार्थ का सेवन तो किया जा सकता हैं पर गर्भावस्था में महिला को बाजार में मिलने वाले डिब्बाबंद या रेडीमेट खाद्य पदार्ध का सेवन करने से बचना चाहिए। ख़ासतौर पर प्रेगनेंसी के प्रथम तीन माह में तो बिल्कुल भी सेवन न करें। 

क्योंकि कई खाद्य विक्रेता कंपनी खाद्य पदार्थ को लम्बे समय तक उपयोग लाये जाने के रासायनिक तत्वों का इस्तेमाल करते हैं। साथ ही कई डिब्बाबंद खाद्य पदार्थ में नमक की अत्यधिक मात्रा का उपयोग करते हैं। 

वहीं मीठे के लिए आर्टिफीसियल स्वीटनर का का इस्तेमाल करते हैं जो होने वाले बच्चे के लिए नुकसानदायक होता हैं। इसलिए गर्भावस्था में महिला हमेशा ताज़े फल सब्जियों या अन्य खाद्य पदार्थ का ही सेवन करें। 

 9. स्ट्रीट फ़ूड (Street Food)

अक्सर सामान्य वर्गीय महिला को स्ट्रीट फ़ूड खाना खूब पसंद आता हैं। इसलिए गर्भावस्था में ऐसी महिला को बाहर का तीखा और कुछ चटपटा खाने का भी खूब मन करता हैं पर यह Pregnant Lady के लिए  स्वास्थ के दृष्टि से बिल्कुल भी अच्छा नहीं होता।   

क्योंकि ज्यादातर स्ट्रीट फ़ूड दूषित होता हैं जिसके सेवन करने से पेट सम्बंधित कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता हैं। गर्भावस्था में पेट सम्बन्धी बीमारी आपकी परेशानी और भी बढ़ा सकता हैं।  

जिससे आपके साथ आपके होने वाले बच्चे पर भी नकारत्मक प्रभाव पड़ता हैं अगर आपको कुछ चटपटा खाने मन करता हैं तो आप कोशिश करें घर पर ही बना कर खाएं।

10. एलोवेरा जूस (Aloe Vera)

सामान्य दिनों में कुछ महिला एलोवेरा जूस का सेवन करती हैं क्योंकि यह स्किन और बालों के लिए बहुत लाभदायक होते हैं। साथ ही एलोवेरा जूस में कई औषधि गुण होते हैं जो स्किन से सम्बंधित बीमारी ठीक करने में और रक्त की अशुद्धियों को दूर करने में सहायक होता हैं। 

पर यहीं एलोवेरा जूस गर्भवती महिला के लिए बहुत हानिकारक हो जाते हैं। इसके सेवन से पेल्विक भाग से रक्त स्त्रावित होने लगते हैं, इसलिए कोशिस करें गर्भावस्था में एलोवेरा जूस का सेवन बिल्कुल भी न करें। 

11. कॉफी (Coffee)

अगर आपको भी कॉफी पीना बहुत पसंद हैं तो आपको अपने होने वाले बच्चे के सुरक्षा के लिए गर्भावस्था में काफी पीना बंद करना होगा। कम से कम प्रथम 3 माह काफी का सेवन बिल्कुल भी न करें क्योंकि इससे होने वाले शिशु पर विपरीत प्रभाव पड़ते हैं।  

कॉफी के सेवन से तीव्र मूत्र विसर्जन की इच्छा होती है वहीं कॉफी की अत्यधिक मात्रा में सेवन करने से गर्भपात भी होने का खतरा भी होता हैं।

Also Read :

निष्कर्ष 

यह थे जो Pregnancy Mein Kya Nahi Khana Chahiye जो आपको गर्भावस्था के दौरान खाने से बचना चाहिए। आपको इस बात का ध्यान देना है की गर्भावस्था के प्रथम तीन माह बहुत ही महत्वपूर्ण होता हैं। 

इसलिए इस बीच ऐसा कोई भी खाद्य पदार्थ का सेवन न करें जो आपके होने वाले शिशु पर बुरा प्रभाव डाले। अगर आपको अभी भी आपके खाने को लेकर कोई संकोच हैं तो अच्छा होगा आप डॉक्टर से एक Pregnancy Diet Chart बनावा लें जिससे गलती होने की संभावना नहीं होगी। 

हम आशा करते है की आप सभी को हमारी यह जानकारी Pregnancy Mein Kya Nahi Khana Chahiye,  Pregnancy Tips In Hindi अच्छा लगा होगा, आपको यह जानकारी कैसा लगा नीचे कमेंट में जरूर बताये।

अगर आपका हमसे किसी तरह का कोई सवाल है तो आप कॉमेंट में पूछ सकते हैं। साथ ही इस जानकारी Pregnancy Tips In Hindi को सोशल मीडिया और दोस्तों में भी शेयर जरूर करें, हमसे जुड़ने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को Like भी कर सकते हैं।
Thanks  For  Reading...  

Post a Comment

1 Comments

  1. आपने बहुत ही अच्छी जानकारी दी है मेरा भी एक blog है www.finoin.com जिसमे Share market and Mutual funds Investment की जानकारी प्रदान किया जाता है...
    तो please आप मेरे blog finoin.Com के लिए एक Backlink प्रदान करें...
    आपका धन्यवाद...

    ReplyDelete
Emoji
(y)
:)
:(
hihi
:-)
:D
=D
:-d
;(
;-(
@-)
:P
:o
:>)
(o)
:p
(p)
:-s
(m)
8-)
:-t
:-b
b-(
:-#
=p~
x-)
(k)

Close Menu