Ad Code

Backlink Kya Hai Quality Backlink Kaise Banaye

बैकलिंक क्या हैं क्वॉलिटी बैकलिंक कैसे बनाए 

बैकलिंक क्या हैं क्वॉलिटी बैकलिंक कैसे बनाए

Backlink Kya Hai Quality Backlink Kaise Banaye, How To Create Backlinks Hindiआज हम जानेंगे की आप अपने ब्लॉग वेबसाइट के लिए क्वॉलिटी बैकलिंक कैसे बना सकते हैं। अगर आप भी अपने ब्लॉग वेबसाइट के लिए बैकलिंक बनाना चाहते हैं तो यह पोस्ट आपके लिए बहुत फायदेमंद होना वाला हैं। 

हर न्यू ब्लॉगर की मुख्य समस्या यह होता हैं की वे ब्लॉग तो आसानी से बना लेते हैं। पर कुछ महीने बीतने के बाद भी उनके पोस्ट पर ज्यादा व्यूज नहीं मिलते न ही उनका ब्लॉग गूगल पर रैंक कर पाता हैं। 

इन सबका दो कारण होता हैं पहला On Page Seo दूसरा Off Page Seo, इसमें से On Page Seo तो आप आसानी से सीख कर कर भी सकते हैं। पर मुख्य समस्या Off Page Seo में आता हैं जिसमें Link Building मुख्य होता हैं।  

कई न्यू ब्लॉगर के ब्लॉग पर क्वॉलिटी बैकलिंक नहीं होता हैं पर अधिकतर नए ब्लॉगर इस चीज़ को समझ नहीं पाते हैं और परेशान रहते हैं की उनसे क्या गलती हो रहा हैं। आज हम आपको बताने वाले हैं की कुछ लोग कैसे जल्द ही टॉप ब्लॉगर बन जाते हैं पर कुछ लोग 2 से 3 साल तक मेहनत करने के बाद भी ब्लॉग्गिंग में सफल नहीं हो पाते।

Blogging Seo में जो सबसे महत्वपूर्ण होता हैं बैकलिंक। इसलिए आज के पोस्ट में हम जानेंगे की बैकलिंक क्या हैं बैकलिंक कितने प्रकार के होते हैं, ब्लॉग वेबसाइट के लिए बैकलिंक के फ़ायदे

बैकलिंक क्या हैं (What Is Backlink In Hindi)

बैकलिंक उसे कहा जाता हैं जो दिखने में एक हाइपर लिंक की तरह होता हैं। जो एक वेबसाइट को दूसरे वेबसाइट (वेब पेज) से जोड़ता हैं जिसे हम Inbond Link या Incoming Links भी कहते हैं। जैसे ही आप इस हाइपर लिंक की तरह दिखने वाले लिंक पर क्लिक करते हैं आप किसी दूसरे वेबसाइट पर चले जाते हैं। 

इसे Seo की भाषा में बैकलिंक कहा जाता हैं Blogging Seo में बैकलिंक का बहुत ज्यादा महत्त्व होता हैं। आपके ब्लॉग वेबसाइट में जितने ज्यादा High Quality बैकलिंक होंगे, Google Search Engine में आपके ब्लॉग वेबसाइट और आर्टिकल की पहले स्थान में आने की संभावना उतना ही ज्यादा होगा। 

यही वजह हैं की आज हर छोटी बड़ी कंपनी और ब्लॉगर ज्यादा से ज्यादा High Quality Backlink जरूर से बनाते हैं, क्योंकि यह उनके बिज़नेस ग्रोथ के लिए अच्छा होता हैं।

 बैकलिंक कितने प्रकार के होते हैं (Types Of Backlinks )

बैकलिंक दो प्रकार के होते हैं एक होता हैं Dofollow Backlink दूसरा होता हैं Nofollow Backlink, तो चलिए जानते हैं इन दोनों बैकलिंक के बारे में कुछ विस्तार से। 

1. Dofollow Backlink 

Seo में Dofollow Backlink सबसे महत्वपूर्ण बैकलिंक होता हैं। जो एक वेबसाइट, वेब पेज को दूसरे वेबसाइट से जोड़ता हैं और उस वेबसाइट को एक Link Juice प्रदान करता हैं। यह लिंक जूस साइट की रैंकिंग को बेहतर करता हैं। 

जिस कीवर्ड पर आपको दूसरे साइट से बैकलिंक मिला हैं उसकी भी रैंकिंग को तेज़ी से बढ़ाता हैं। जिससे आपकी साइट में आर्गेनिक ट्रैफिक बढ़ता हैं इसे ही Dofollow Backlink कहा जाता हैं। 

अगर आपकी ब्लॉग को High Da, Pa साइट से बैकलिंक मिलता है तो आपके ब्लॉग को उतना ही ज्यादा फायदेमंद होगा आपकी साइट सर्च इंजन में उतना ही ज्यादा रैंक करेगा।  

डूफ़ॉलो बैकलिंक कुछ इस तरह दिखाई देता हैं।  

  • <a href="Yourwebsite.com">Link Text</a>

 2. Nofollow Backlink 

ब्लॉग्गिंग Seo की दृष्टि से Nofollow Backlink साइट के लिए फायदेमंद नहीं होता हैं। क्योंकि नोफ़ॉलो बैकलिंक एक साइट से दूसरी साइट पर Link Juice पास नहीं करता हैं। इसके लिए नोफ़ॉलो बैकलिंक का Google Search Engine में ज्यादा कोई महत्त्व नहीं रखता न ही इससे रैंकिंग पर कोई सकारात्मक प्रभाव पड़ता हैं। 

पर फिर भी Nofollow Backlink कुछ हद तक फायदेमंद होता हैं। क्योंकि Google Search Console के नियम के अनुसार किसी भी साइट में 70 प्रतिशत Dofollow Backlink और 30 प्रतिशत Nofollow Backlink का अनुपात होना अच्छा माना जाता हैं। 

इससे आपके बैकलिंक Google Search Console नज़र में ज्यादा प्रभावी और नेचुरल लगते हैं जो आपके साइट के लिए अच्छा होता हैं। इसलिए आपको Dofollow Backlink के साथ ही कुछ मात्रा में Nofollow Backlink भी अवश्य बनाना चाहिए। 

Nofollow Backlink कुछ इस तरह दिखाई देता हैं। 

  • <a href="yourwebsite.com" rel="nofollow>Link Text </a>

ब्लॉग के लिए क्वॉलिटी बैकलिंक कैसे बनाए

हर वो इंसान जो ब्लॉग्गिंग के क्षेत्र से जुड़ा हैं जो ब्लॉगर हैं वह कुछ महीने के बाद ही अच्छे से समझ जाता हैं की, अपनी ब्लॉग को रैंक कराने और Google Search Engine से Organic  Traffic लाने के क्वालिटी बैकलिंक का होना अति आवश्यक हैं। 

ऐसे में उनके मन में यह सवाल उठना स्वाभाविक हैं क्वॉलिटी बैकलिंक कैसे बनाए। इसके लिए कई नए ब्लॉगर गूगल पर सर्च करते हैं तो कुछ यूट्यूब पर बैकलिंक कैसे बनाए की वीडियो देखते हैं और बिना ज्यादा सोचे तेज़ी से  बैकलिंक बनाना शुरू कर देते हैं। 

पर New Blogger यहाँ एक बड़ी गलती कर देते हैं क्योंकि बैकलिंक बनाने का भी एक तरीका होता हैं, आप कही से भी अपने ब्लॉग के लिए बैकलिंक नहीं बना सकते हैं। तो चलिए जानते हैं ब्लॉग के लिए क्वॉलिटी बैकलिंक कैसे बनाए और कहा से बनाए।

1.  क्वॉलिटी कंटेंट लिखें

ब्लॉग के लिए सबसे महत्वपूर्ण Quality Content ही होता हैं, क्वॉलिटी कंटेंट का मतलब आप जिस भी टॉपिक भी आर्टिकल लिखे वह डिटेल में और अच्छी तरह समझा कर लिखें। जिससे आपके रीडर को आसानी से समझ आ सके। 

ऐसे आर्टिकल गूगल में जल्दी रैंक होते हैं जिससे दूसरे ब्लॉगर आपके आर्टिकल के लिंक को एक रेफेरिंग लिंक के रूप में खुद अपने ब्लॉग में ऐड करेंगे। जिससे आपके ब्लॉग को एक बैकलिंक मिल जाएगा इसे Seo की भाषा में नेचुरल बैकलिंक कहते हैं। इससे  बिना बैकलिंक बनाए ही ऑटोमैटिक आपके बैकलिंक बनते जायेंगे। 

2. हाई  प्रोफाइल बैकलिंक

जब आप अपने ब्लॉग पर 5 से 10 आर्टिकल पब्लिश कर चुके हो तो इसके बाद आपको प्रोफाइल बैकलिंक बनाना शुरू कर देना चाहिए। यह आपके ब्लॉग के ब्रांड को गूगल सर्च इंजन में पहले पेज पर लाने में मदद करता हैं। 

यह एक नेचुरल बैकलिंक होता हैं जो आपके ब्लॉग ब्रांड वैल्यू को बढ़ाने के साथ धीरे - धीरे आपके ब्लॉग के रैंकिंग को भी इम्प्रूव करने में मदद करता हैं। पर आपको ध्यान देना हैं की आप हमेशा हाई अथॉरिटी वाले वेबसाइट से ही प्रोफाइल बैकलिंक बनाए तभी आपको इसका फ़ायदा होगा हैं।

3. Guest Post करें 

ब्लॉग्गिंग Seo में जिस बैकलिंक का सबसे ज्यादा महत्त्व होता हैं, वह हैं गेस्ट पोस्ट के जरिये बैकलिंक प्राप्त करना।  यह बैकलिंक बहुत ही पॉवरफुल बैकलिंक माना जाता हैं। 

इसमें करना यह होता हैं की आपको अपने Niche से रिलेटेड किसी दूसरे के ब्लॉग जो आपके ब्लॉग से बेहतर हो  उस पर खुद का  लिखा आर्टिकल सबमिट करना होता हैं इसे हम Guest Blogging भी कहते हैं। 

इससे उस ब्लॉग का ओनर आपके आर्टिकल को अपने ब्लॉग में पब्लिश करता हैं और आपको एक क्वॉलिटी बैकलिंक देता हैं। कोशिश करें कि आप ऐसे ब्लॉग पर गेस्ट पोस्ट करे जिनका DA, PA और रैंकिंग अच्छा हो।  

इससे आपके ब्लॉग को रेफेरल ट्रैफिक के साथ आर्गेनिक ट्रैफिक भी मिलेगा। साथ ही Google Search Engine में आपके ब्लॉग रैंकिंग में सुधार होगा।     

4. Comment करें

यह भी एक तरीका हैं बैकलिंक प्राप्त करने का, इसके लिए आपको बस आपके Blog Niche से सम्बंधित  टॉप ब्लॉगर पर उस टॉपिक से सम्बंधित एक अच्छा सा कमेंट करना हैं। आप जहां आप कमेंट करते  वहा नाम ईमेल और वेबसाइट का ऑप्शन दिखाई देगा। 

जहां वेबसाइट वाले ऑप्शन में आपको अपने ब्लॉग का लिंक ऐड कर देना हैं। हालांकि ज्यादातर कमेंट बैकलिंक नोफ़ॉलो बैकलिंक होते हैं जिसका ज्यादा कोई महत्त्व नहीं होता हैं पर गूगल की नज़र में कमेंट के द्वारा बैकलिंक प्राप्त करना नेचुरल बैकलिंक में गिना जाता हैं। 

इसका दूसरा महत्त्व ये भी हैं की लोग कमेंट बैकलिंक इसलिए भी बनाते हैं की आपके ब्लॉग पर वैराइटी ऑफ़ बैकलिंक अवश्य होना चाहिए  जो गूगल का गाइड लाइन भी हैं। अगर आप कमेंट करके बैकलिंक प्राप्त नहीं करना चाहते तो भी चलेगा क्योकि यह बहुत आउट डेटेड तरीका हैं गूगल अब इसे वैल्यू नहीं करता। 

 5. Infographics Backlink  

इन्फोग्राफिक्स अपने ब्लॉग वेबसाइट के लिए एक क्वॉलिटी बैकलिंक प्राप्त करने का आज के दौर में सबसे अच्छे तरीको में से एक हैं। हम सब जानते हैं की हर ब्लॉगर अपने पोस्ट में एक एक पोस्ट से संबधित एक इमेज जरूर क्रिएट करता हैं।

ऐसे में अगर आप भी अपने पोस्ट के लिए एक हाई क्वॉलिटी इमेज क्रिएट करते हैं जो आपके टॉपिक को इमेज के द्वारा प्रदर्शित कर सके जिसे हम इन्फोग्राफिक कहते हैं। कई दूसरे नए ब्लॉगर अपने ब्लॉग पोस्ट के लिए गूगल पर इमेज सर्च करते हैं। 

ऐसे में अगर आपकी इमेज उनके आर्टिकल से सम्बंधित होगा तो वह आपकी इमेज का उपयोग अपने आर्टिकल में जरूर करेंगे और सोर्स इमेज की जगह आपके ब्लॉग का लिंक भी देंगे। जिससे आपको एक क्वॉलिटी बैकलिंक मिल जाएगा।

अगर आपका इन्फोग्राफिक्स ज्यादा वायरल टॉपिक पर हैं या वाइरल तो आपको कई सारे बैकलिंक बिना किसी मेहनत के मिल जाएंगे। साथी ही कुछ बड़ी वेबसाइट भी क्वॉलिटी इन्फोग्राफ को अपने वेबसाइट में शेयर करते हैं  हैं। ऐसे में आपको हाई अथॉरिटी वाले वेबसाइट से भी बैकलिंक मिलने की संभावना बढ़ जाएगा।  

6. वेब 2.0 बैकलिंक 

 वेब 2.0 बैकलिंक भी Link Building का एक पुराना और अच्छा तरीका जिसके द्वारा आप अपने ब्लॉग के लिए एक हाई क्वॉलिटी बैकलिंक बना सकते हैं। इंटरनेट में आपको ऐसे कई सारी वेबसाइट मिल जाएगा जहा आप वेब 2.0 साइट बना कर वह कुछ आर्टिकल पब्लिश कर बैकलिंक प्राप्त कर सकते हैं। 

इसके लिए आपको उन वेबसाइट में जाकर अपने मुख्य ब्लॉग के नाम से ही एक वेबसाइट बनाना होगा। जहा आपको एक सब डोमेन मिलेगा यह बिल्कुल फ्री होता हैं और जिसे आप बना सकते हैं। 

कुछ Top Web 2.0 website List जहां आप वेब 2.0 साइट बना कर बैकलिंक प्राप्त कर सकते है। 

1. https://site.google.com/

2. https://www.medium.com/

3. https://www.wix.com/

4. https://www.blogger.com/

5. https://www.weebly.com/

6. https://www.bloglovin.com/

7. https://www.wordpress.com/

8. https://www.strikingly.com/

9. https://www.tumblr.com/

10. https://www.livejournal.com/

8. Haro से बैकलिंक 

HARO का मतलब होता हैं Help a Reporter Out,  HARO एक ऐसा मंच या कहे वेबसाइट हैं जो मुख्य रूप से न्यूज़ रिपोर्टर के लिए बनाया गया हैं। जहां दुनियाँ भर की Top न्यूज़ वेबसाइट जुड़ी होती हैं जहां आप एक सोर्स, ब्लॉगर या न्यूज़ रिपोर्टर के रूप में अपने आर्टिकल दुनियाँ के Top News Website में पब्लिश करा सकते हैं। 

इसके लिए आपको बस उनके द्वारा दिए टॉपिक पर एक निश्चित समय सीमा के अंदर आर्टिकल को लिख कर सबमिट करना होता हैं। अगर उन वेबसाइट को आपका आर्टिकल पसंद आया तो वह आपका आर्टिकल पब्लिश करने के साथ ही आपको वहा से एक फ्री में Top High Quality Dofollow मिल जाएगा।

आज के दौर में इन वेबसाइट में अगर आप पैसे देकर आर्टिकल सबमिट कराओगे तो एक आर्टिकल की कीमत 300 डॉलर से 800 डॉलर तक होती हैं। पर Haro के द्वारा आप यह फ्री में कर सकते हैं अधिक जानकारी के लिए  👉 HARO पर जाकर विस्तार से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। 

बैकलिंक क्यों जरुरी हैं बैकलिंक के फायदे 

1. बैकलिंक ब्लॉग Seo (Search Engine Optomization) के लिए बहुत ही जरूरी हैं। 

2. बैकलिंक आपके ब्लॉग और आर्टिकल के रैंकिंग को इम्प्रूव करने के लिए अति आवश्यक होता हैं। 

3. आपके ब्लॉग पर जितने ज्यादा High Quality Backlink होंगे आपके ब्लॉग की रैंकिंग इतना ज्यादा अच्छा होता जाएगा। 

4. ब्लॉग पर High Quality Backlink होने से बहुत सारा आर्गेनिक ट्रैफिक आएगा जिसके साथ ही आपका अर्निंग भी ज्यादा होगा। 

किस प्रकार बैकलिंक बनाने चाहिए 

आपको ऊपर दी जानकारी से पता चल गया होगा Seo के लिए Dofollow Backlink ही सबसे ज्यादा महत्व होता हैं। आपको भी डूफ़ॉलो बैकलिंक बनाने पर ज्यादा फोकस करना चाहिए। पर आप हमेशा 70 /30  का अनुपात लेकर चले 70 प्रतिशत  डूफ़ॉलो बैकलिंक और 30 प्रतिशत नोफ़ॉलो बैकलिंक बनाए।

कौन - कौन से बैकलिंक बनाए

अक्सर New Blogger ये गलती करते हैं की वे एक ही तरीके बैकलिंक बनाना शुरू कर देते हैं जैसे कमेंट बैकलिंक या प्रोफाइल बैकलिंक। इससे होता ये हैं की बैकलिंक तो बनते जाते हैं पर उसका वैल्यू घट जाता हैं।

जिससे रैंकिंग और ट्रैफिक में कुछ अच्छा बदलाव देखने नहीं मिलता बल्कि धीरे - धीरे रैंकिंग और ट्रैफिक भी गिरने लगता हैं। इसलिए आपको हर तरह के बैकलिंक बनाने चाहिए जैसा की हमने ऊपर आपको बताया हैं।

इसके आलावा आप इमेज सबमिशन, पीडीएफ फाइल सब मिशन, ऑडियो सब मिशन, Editorial Backlinks, बैज बैकलिंक आदि भी बना सकते हैं।

निष्कर्ष 

इस तरह आज आपने जाना की Backlink Kya Hai Quality Backlink Kaise Banaye. आशा करते हैं अब आप Backlink Kya Hai Quality Backlink Kaise Banaye, How To Create Backlinks Hindi के बारे में सीख लिया होगा।

आपको यह जानकारी कैसा लगा नीचे कमेंट में जरूर बताये। साथ ही आप Backlink Kya Hai Quality Backlink Kaise Banaye, How To Create Backlinks Hindi को अपने दोस्तों और सोशल मीडिया में भी शेयर जरूर करें। हमसे जुड़ने और सीधे सवाल करने के लिए आप हमारे Facebook या  इंस्टाग्राम को लाइक या फॉलो भी कर सकते हैं। 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Close Menu